What is Coronavirus in hindi-इसके संक्रमण से कैसे बचें?

coronavirus in hindi- कोरोनावायरस क्या है तथा इससे बचने के उपाय
Coronavirus in hindi

What is Coronavirus in hindi? – कोरोनावायरस क्या है और इसके संक्रमण से कैसे बचें ?

जैसा की आप सब लोगो को पता होगा की विश्व एक नये किसम के कोरोनावायरस की समस्या से झुंझ रहा है।

इसकी शुरुवात china से हुई और यह कोरोनावायरस अब तक 1500 से ज्यादा लोगो की जान ले चूका है।

कोरोनोवायरस ने World Health Organisation के वैश्विक आपातकाल को चालू कर दिया है।

आइए देखें कि कोरोनावायरस क्या है What is coronavirus in hindi और इससे बचने के लिए क्या सावधानियां बरतनी चाहिए।

Coronavirus in hindi

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कोरोनावायरस से फैली महामारी की स्थिति लगातार बदल रही है।

अभी भी नोवेल कोरोनावायरस की प्रकृति, लक्षण और संचरण के तौर-तरीकों के बारे में बहुत कम जानकारी है और इस कारण से इसकी विस्तृत तस्वीर बनाना मुश्किल है।

World Health Organisation ने कोरोनोवायरस के संचरण को रोकने और इस महामारी के जोखिम से बचने के लिए आवश्यक सावधानी बरतने को कहा हैं।

अभी तक, 20,500 से अधिक लोग कोरोनावायरस से संक्रमित हुए हैं और 1500 से अधिक लोगो की मौत हो गयी है।

आइए जानते हैं कोरोनावायरस क्या है और इस महामारी के जोखिम को कम करने के तरीके क्या हैं।

कोरोनावायरस क्या है?- What is Coronavirus in hindi?

कोरोनावायरस, वायरस के एक परिवार का हिस्सा है, जो साधारण सर्दी से लेकर अधिक गंभीर संक्रमणों, जैसे कि मध्य पूर्व श्वसन सिंड्रोम Middle East Respiratory Syndrome (MERS) और तीव्र गंभीर श्वसन सिंड्रोम Severe Acute Respiratory Syndrome (SARS) जैसी बीमारियों का कारण बनता है।

कोरोनावायरस परिवार में मुख्या रूप से 4 वायरस होते हैं Alphacoronavirus, Betacoronavirus, Gamacoronavirus और Deltacoronavirus.

इनमे से Alpha और Betacoronavirus mammals जैसे चमकादर तथा इन्सान को नुकसान पहुचता है। 

Gamacoronavirus मुख्य रूप से पक्षियों को तथा Deltacoronavirus mammals तथा पक्षियों दोनों को  नुकसान पहुचता है।

2003 में Severe Acute Respiratory SyndromeSARS नामक वायरस से महामारी फैली थी । 

इसकी चपेट में  China जैसे देश आये थे। इससे बहुत से लोगो की जान गयी थी। 

नोवेल कोरोनावायरस एक नये किसम का वायरस है, इसे “2019-nCoV (2019-Novel Corona Virus) के अनुक्रम से जाना जाता है।

यह कोरोनोवायरस, SARS वायरस के डीएनए से लगभग 76% समान पाया गया है।

डॉ एलिजा, विकेंजी के प्रमुख बताते हैं, SARS वायरस  से 2003 में 10% की मृत्यु दर के साथ 8 हजार से अधिक लोग संक्रमित हुए थे।

2019-nCoV की मृत्यु दर फ़िलहाल 3% है जो की SARS वायरस से कम है।

यदि इससे होने वाली मृत्यु दर में वृद्धि होती है, तो हमें कोरोनावायरस के उत्परिवर्तन को कम करना चाहिए, जो इसकी रोगजनकता को बढ़ाता है।

कोरोनावायरस से संक्रमित इन्सान को पहचानना कठिन हो जाता है क्यूंकि इसके लक्षण 10-12 दिन बाद दिखाई देते हैं।

यह इस दौरान भी यह वायरस दूसरे इंसानों में आसानी से फ़ैल जाता है, जो की इस वायरस को और हानिकारक बना देता है।

Coronavirus के लक्षण

Coronavirus के symptoms शुरू में साधारण फ्लू जैसे ही दिखाई देते हैं, जैसे-:

  • ठंड    
  • बुखार    
  • सूखी खांसी 
  • गले में खराश 
  • सांस लेने में तकलीफ

हालांकि, कुछ मामलों में रोग बढ़ता है और वायरस वायुमार्ग से फेफड़े के अन्दर संरचनाओं तक पहुंचता है, जिससे उनमे सूजन आ जाती है और बहुत viral pneumonia भी होता है।

2019 Novel CoronaVirus कैसे फैलता है?

आज कोरोनावायरस से निपटने का सबसे जटिल पहलू वायरस की संक्रामकता तथा इसकी रोकथाम करना है।

कोरोनावायरस नीचे दिए गए माध्यम से फेलता है:

  • खांसी और छींकने के साथ लार
  • श्लेष्म झिल्ली (आंख, नाक, मुंह) के साथ वायरस द्वारा दूषित सतहों को छूने वाले हाथों के संपर्क से

यह भी पढ़ें – स्वस्थ कैसे रहे। सरल उपाय 

Coronavirus के संक्रमण को कैसे कम करें?

चूंकि कोरोनावायरस का कोई वैक्सीन नहीं है और इस वायरस के बारे में बहुत कम जानकारी है, इसलिए इस महामारी पर केवल संदिग्ध मामलों की पहचान और अलगाव करके अंकुश लगाया जा सकता है।

यदि वायरस संक्रमित क्षेत्रों की यात्रा से वापसी के बाद दो सप्ताह में, श्वसन संबंधी परेशानी के लक्षण होते हैं, तो जल्द से जल्द किसी अच्छे अस्पताल को दिखाए।

  • यदि आप अन्य लोगों के संपर्क में हैं तो सर्जिकल मास्क पहनें 
  • खांसी या छींक के लिए डिस्पोजेबल ऊतकों का उपयोग करें
  • अपने हाथ अक्सर धोएं

CDC (Centre for Disease Control and Prevention) ने कोरोनावायरस से बचने के कुछ उपाय बताये हैं जो निम्नलिखित हैं -:

  • अपने हाथो को अच्छे से धोये। 
  • अपने पास एक alcohol based sanitizer जरुर रखें और समय समय पर sanitizer का इस्तेमाल करें ।
  • Coronavirus से संक्रमित लोगो के संपर्क में आने से बचे।
  • बीमार होने की स्तिथि में घर पर ही रहे, इसे में सक्रमण होने का खतरा ज्यादा होता है।
  • छींक या Cough  होने पर Tissue Paper का इस्तेमाल करें।
  • कोशिश करें अपने आस पास सफाई बनाये रखें। 

कोरोना वायरस का इलाज   

कोरोनावायरस के इलाज का अभी तक कोई भी वैक्सीन नहीं बना है परन्तु आप सावधान रहकर तथा सतर्कता बरत कर अपनेआप को वायरस के प्रकोप से दूर रख सकते हैं। 

यदि किसी पे Coronavirus के लक्षण दीखते हैं तो तुरंत hospital या healthcare provider से संपर्क करें।

आशा करता हूँ आपको coronavirus in hindi के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी मिल गयी होगी अगर बही भी आपका कोई सवाल है तो आप Comment में लिखकर पूछ सकते हैं। 

अंत में मैं यही कहना चाहूँगा की इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि कोरोनावायरस के बारे में ज्यादा से ज्यादा लोगो को जानकारी मिल सके।   

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *