भारत के राज्य और उनकी राजधानियाँ 2020 | States and their capital of India

भारत के राज्य और उनकी राजधानियाँ (States and their capital of India)

दोस्तों इस पोस्ट में मैं आपको भारत के राज्य और उनकी राजधानियों (states and their capital of India) के बारे में बताने वाला हूँ। 

भारत दुनिया का सातवां सबसे बड़ा देश है और दूसरा सबसे ज्यादा आबादी वाला देश है। भारत दक्षिण एशिया में स्थित है और इसकी राजधानी दिल्ली है। 

भारत के संविधान के हिसाब से भारत अलग अलग राज्यों तथा केंद्र शाशित प्रदेशों का एक संघ (Union of States) है। इसे आधिकारिक तौर पर भारत गणराज्य (Republic of India) के रूप में जाना जाता है तथा यहाँ की सरकार संसदीय प्रदाली से चलती है।

आज हम भारत के राज्य, केंद्र शाशित प्रदेश तथा उनकी राजधानियों के बारे में जानेंगे। 

भारत के राज्य तथा केन्द्र-शाशित प्रदेश 2020


भारत में किसी राज्य का केंद्र शाशित प्रदेश का गठन करने का हक सिर्फ भारत की संसद के पास है। 

संविधान के अनुछेद 3 ने भारत की संसद को यह हक़ दिया है की वह किसी भी राज्य से कुछ क्षेत्र को अलग करके नये राज्य का गठन करना या किन्ही 2 या उससे ज्यादा राज्यों को मिला कर एक नये राज्य का गठन करना।

आज के समय में भारत के 28 राज्य तथा 8 केंद्र शाशित प्रदेश हैं।

राज्यों की संख्या पहले 29 तथा केंद्र शाहित प्रदेशों की संख्या 7 हुआ करती थी। भारत सरकार द्वारा 5 अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर से अनुछेद 370 हटाने तथा केंद्र शाशित प्रदेश घोषित करने के बाद भारत के राज्यों की संख्या घटकर 28 हो गयी तथा लधाक और जम्मू कश्मीर तथा लधाक को मिला कर केन्द्र शाशित प्रदेश की संख्या 9 हो गयी थी।

26 जनवरी 2020 को भारत सरकार द्वारा दमन और दिउ तथा दादर और नागर हवेली को मिला कर 1 केंद्र शाशित प्रदेश बना दिया गया है। जिससे अब भारत में केन्द्रशाषित प्रदेशों की संख्या 8 हो गयी है। 

राज्यों का अपना अलग मुख्यमंत्री, राजधानी तथा उच्न्ययालय होता है।

यह भी पढ़ें – भारत की राष्ट्रीय भाषाएँ

राज्य और केंद्र शाशित प्रदेशों में क्या अंतर होता है?


भारत के राज्य और केंद्र शाशित प्रदेशों में मुख्या अंतर यह है की राज्य की अपनी अलग सरकार होती है जो की जनता द्वारा चुनी जाती है परन्तु केंद्र शाशित प्रदेशों की अपनी सरकार नहीं होती। इनकी सरकार का सञ्चालन केंद्र सरकार द्वारा किया जाता है।

राज्यों का संवैधानिक प्रमुख राज्यपाल होते हैं तथा केंद्र शाशित प्रदेशों के कार्यकारी प्रमुख भारत के राष्ट्रपति होते हैं। 

भारत के राज्यों का गठन

आजादी से पहले भारत में राजनितिक इकाई की 2 श्रेणिया शामिल थी। 

  1. ब्रिटिश प्रान्त – जो अंग्रेजी हुकूमत के अन्दर आते थे। 
  2. राज रियासत – राजाओं द्वारा शाशित परन्तु ब्रिटिश हुकूमत के अधीन। 

भारत 15 अगस्त 1947 को आजाद हुआ। आजादी के समय भरता में 552 अलग अलग रियासतें थी जिनमे से 549 भारत में मिल गयी तथा 3 रियास्सतों (हैदराबाद, जूनागढ़ और जम्मू कश्मीर) का बाद में भारत में विलय हुआ।

 1950  में भारत के संविधान में राज्यों को चार भागो में बाटां गया था। 

  • भाग A – गवर्नर शाशित (9 राज्य) 
  • भाग B – विधानसभा वाली रियासत (9 राज्य) 
  • भाग C – चीफ कमिश्नर शाशित (10 राज्य) 
  • भाग D – अंदमान और निकोबार द्वीप समूह 

इन सब राज्यों की संख्या सन 1950 में 29 थी।

1956 में राज्य पुनर्गठन अधिनियम का प्रयोग करके 7वें संवैधानिक संशोधन अधिनियम के द्वारा राज्यों को भाग में बाटने का नियम ख़तम कर दिया गया और 1 नवम्बर 1956 को 14 राज्य तथा 6 केंद्र शाशित प्रदेशों का गठन हुआ।

2020 तक संविधान में अलग अलग संशोधन करके भारत में राज्यों की संख्या 28 तथा केन्द्रशाषित प्रदेशों की संख्या 8 हो गयी है।

नीचे आपको भारत के सभी राज्यों तथा केन्द्रशाषित प्रदेशों की सूची उनकी राजधानी तथा स्थापना दिवस के साथ दी गयी है।

यह भी पढ़ें – भारत के राष्ट्रीय प्रतीक व चिन्ह

भारत के राज्यों की सूची 


2020 में भारत के कुल 28 राज्य हैं।

संख्या राज्य का नाम राजधानीस्थापना
1आंध्र प्रदेशअमरावती1 नवंबर 1956
2अरुणाचल प्रदेशईटानगर 20 फरवरी 1987
3असम दिसपुर26 जनवरी 1950
4बिहारपटना26 जनवरी 1950
5छत्तीसगढ़रायपुर 1 नवम्बर 2000
6गोवा पणजी30 मई 1987
7गुजरात गांधीनगर 1 मई 1960
8हरयाणा चंडीगढ़1 नवम्बर  1966
9हिमांचल प्रदेशशिमला25 जनवरी 1971
10झारखण्ड रांची15 नवम्बर 2000
11कर्नाटक बेंगलूरू1 नवम्बर 1956
12केरेलथिरुवानान्थ्पुरम1 नवम्बर 1956
13मध्य प्रदेश भोपाल1 नवम्बर 1956
14महाराष्ट्र मुंबई 1 मई 1960
15मणिपुर इम्फाल21 जनवरी 1972
16मेघालय शिल्लोंग21 जनवरी 1972
17मिजोरम ऐज़ाव्ल20 फ़रवरी 1987
18नागालैंड कोहिमा 1 दिसम्बर 1963
19ओडिशा भुबनेश्वर26 जनवरी 1950
20पंजाब चंडीगढ़1 नवम्बर 1956
21राजस्थान जयपुर 1 नवम्बर 1956
22सिक्किम गंगटोक 16 मई 1975
23तमिलनाडु चेन्नई26 जनवरी 1950
24तेलंगाना हैदराबाद2 जून 2014
25त्रिपुरा अगरतला 21 जनवरी 1972
26उत्तर प्रदेश लखनऊ26 जनवरी 1950
27उत्तरखंड देहरादून9 नवम्बर 2000
28पश्चिम बंगाल कोलकाता1 नवम्बर 1956

भारत के केंद्र शाशित प्रदेशो की सूची


भारत में कुल केन्द्रशाषित प्रदेशों की संख्या 8 है। 

संख्या कन्द्रशाषित प्रदेशराजधानी स्थापना
 1अंदमान और निकोबार द्वीप पोर्ट ब्लेयर 1 नवम्बर 1956
2चंडीगढ़ चंडीगढ़ 1 नवम्बर 1966
3दादर और नगर हवेली और दमन और दिउ दमन 26 जनवरी 2020
4दिल्ली नई दिल्ली 9 मई 1905
5जम्मू और कश्मीर श्रीनगर और जम्मू 31 अक्टूबर 2019
6लक्षद्वीप कवरत्ती 1 नवम्बर 1956
7पुद्दुचेरी पांडिचेरी 1 नवम्बर 1954
8लधाखलेह31 अक्टूबर 2019

भारत के राज्य तथा केन्द्रशाषित प्रदेशों का नक्सा

भारत के राज्य और राजधानी का नक्सा
नक्सा लिया गया है – www.mapsofindia.com

State and their capital of India – FAQs

Q- भारत में कितने राज्य हैं?

Ans- भारत में कुल 28 राज्य हैं। पहले 29 राज्य हुआ करते थे, भारत सरकार द्वारा जम्मू और कश्मीर से राज्य का दर्जा हटाने तथा उससे केंद्र शाशित प्रदेश बनाने के बाद राज्यों की संख्या 28 हो गयी है। 

Q- भारत में कितने केंद्र शाशित प्रदेश हैं?

Ans- भारत में केंद्र शाशित प्रदेशो की संख्या 8 है। 26 जनवरी 2020 को दादर और नगर हवेली तथा दमन और दिउ को मिला कर 1 केंद्र शाशित प्रदेश बना दिया गया है। 

Q- भारत का सबसे बड़ा राज्य कौन सा है?

Ans- राजस्थान क्षेत्रफल के हिसाब से भारत का सबसे बड़ा राज्य है तथा उत्तर प्रदेश जनसँख्या के हिसाब से भारत का सबसे बड़ा राज्य है। 

Q- भारत का  सबसे छोटा राज्य कौन सा है?

Ans- गोवा क्षेत्रफल के हिसाब से भारत का सबसे छोटा राज्य है तथा सिक्किम जनसँख्या के हिसाब से भारत का सबसे छोटा राज्य है।       

Q- भाषा के आधार पर पहला राज्य कौन सा बना था?

Ans- आंध्र प्रदेश भाषा के आधार पे बनने वाला भारत का पहला राज्य था। इसकी स्थापना 1 अक्टूबर 1953 को हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *